Thursday, August 5, 2021

सिंगरौली: अनलॉक होने के बाद RTO ऑफिस में उमड़ रही बेतहाशा भीड़

रिपोर्टर:-अनिल कुमार दुबे सिंगरौली मध्यप्रदेश साहब बेखबर,लोग बेपरवाह,संक्रमण का बढ़ा खतरा साहब के आने के बाद सुर्खियों में है मंटू ..? जबलपुर पास होने जाता है पेपर जिला प्रशासन के द्वारा लगातार चलाये जा रहे जागरूकता अभियान और लोगो की सजगता के कारण ऊर्जाधानी में लोगो को कर्फ्यू से राहत मिली। शर्तों के अनुसार जिले को अनलॉक किया गया। लेकिन पिछले बार की तरह इस बार पुनः लोग बेपरवाह होते जा रहे है शायद भूल गए की दूसरी लहर में न जाने कितने लोग असमय काल के गाल में समाहित हो गए। जानकारो की माने तो अभी तीसरी लहर आना बाकी है। इस लहर से निपटने के लिए जिला प्रशासन तैयारियों में जुटा है,ज्यादा से ज्यादा लोगो को वैक्सीन लगाने का अभियान चलाया जा रहा है। लेकिन जिला परिवहन कार्यालय में उमड़ रही बेतहाशा भीड़ को देखकर ऐसा लगता है कि प्रशासन की मंशा पर पानी फिर जाएगा..? क्योंकि लोग बेखौफ होकर बिना मास्क लगाए ही भीड़ का हिस्सा बन रहे हैं। और प्रभारी आरटीओ साहब है कि बेखबर है आखिर उन्हें खबर भी हो तो कैसे..? सूत्र बताते है कि लाइसेंस ,परमिट ,फिटनेस का सारा काम- धाम जबलपुर से संचालित हो रहा है..? जिससे अहम कड़ी है मंटू। बेपरवाह हुए लोग,साहब बेखबर कोरोना की तीसरी लहरा आना अभी बाकी है। इस लहर से निपटने के लिए जिला प्रशासन हर संभव प्रयास में जुटा है। लेकिन जिला परिवहन कार्यालय का प्रतिदिन का जो नजारा रहता है उसे देखकर जानकारों का कहना है कि ऐसे में इस लहर से निपटने में तमाम कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। शर्तों के साथ हुए अनलॉक के बाद लोग बेपरवाह हो गए हैं काम करवाने को लेकर आरटीओ दफ्तर के बाहर बेतहाशा भीड़ उमड़ रही है और साहब है कि बेखबर है। कौन है मंटू…? क्या है इसका आरटीओ ऑफिस में..? लंबे समय तक जिले में लगे जनता कर्फ्यू के कारण लोगो के जरुरी काम नही हो पा रहे थे।अचानक अनलॉक होने से लोग अपना अपना काम लेकर आरटीओ दफ्तर की ओर दौड़ लगा रहे है। आरटीओ दफ्तर कम दलालो के अड्डे से संबोधित होने वाले इस कार्यालय में प्रतिदिन बेतहाशा भीड़ उमड़ रही है क्योंकि बताया जा रहा है कि इन दिनों सारा कामकाज जबलपुर से हो रहा है और इसमें अहम भूमिका निभा रहा है मंटू। साहब के आने के बाद मंटू सुर्खियों में है हर कोई यह जानना चाहता है कि ये मंटू कौन है…? साहब का रिश्तेदार..? दलाल या कारखास..? हालांकि पड़ताल के बाद ही पूरे मामले से पर्दा उठेगा।

रिपोर्ट पोस्ट

Anil
I am five year continow journlist at disstict singrauli Madhyapradesh india 486886

इस लेखक के अन्य पोस्ट

ताज़ा लेख