Tuesday, September 28, 2021

स्वामी ब्रह्मदेव का कच्चा चिठ्ठा शिष्टमंडल ने जिला कलेक्टर को सौंपा, सीबीआई जांच की करी मांग

मनजीत सिंह 9887287446 आज धन धन बाबा शहीद दीप सिंह गुरुद्वारा के मुख्य सेवादार तेजेन्द्रपाल सिंह टिम्मा के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल जिसमें वरिष्ठ अधिवक्ता कुलदीप गार्गी, बाबा गगनदीप सिंह चेयरमैन करतारसर साहिब पंथ प्रचार सोसायटी, लवप्रीत सिंह बराड़ स्टेट प्रेजिडेंट सिख स्टूडेंट्स फैडरेशन राजस्थान, गुरप्रीत सिंह सिधू, संदीप सिंह सोना, कुलविंदर सिंह राजू, स्वर्ण सिंह फौजी एक नूर खालसा फौज, निहाल सिंह करणपुर, गुरविंदर सिंह करणपुर, गोपी सरपंच, आकाश खुराना, राजप्रीत सिंह, देव सिडाना, चरनजीत सिंह गुरद्वारा करतारसर ने जिला कलेक्टर से मुलाकात कर राजस्थान के जिला श्रीगंगानगर में स्थापित जगदम्बा अंध विद्यालय के संचालक स्वामी ब्रह्मदेव का कच्चा चिठ्ठा सौंपते हुये सीबीआई जांच की मांग की है! शिष्ट मंडल ने जिला कलेक्टर को सौंपे गये कच्चे चिठ्ठे में स्वामी ब्रह्मदेव पर आरोप लगाये है कि अंध विधालय में पढ़ रहे मासूम गूंगे बहरे व अंधे बच्चों की आड़ में स्वामी ब्रह्मदेव प्रधान, उसकी सहयोगी रंजना सेठी कैशियर व उसका बेटा शिवम कोहली सचिव (दोनों मां बेटा) ने इन विकलांगों के परिवारों का खूब आर्थिक शोषण किया। सर्वविदित है कि स्वामी ब्रह्मदेव ने इन विकलांग बच्चों की बातें लोगों के सामने रख अपनी लच्छेदार बातों से आमजन को इमोशनल ब्लैकमेल करते थे।किसी की अंतिम अरदास में जाना हो तो एक तो परिवार वैसे दुखी उस माहौल में स्वामी अपने शब्दों के मायाजाल में उलझा, एक संत की सेवा, दूसरा दान का महत्व और तीसरा रब्बी कहर के शिकार विकलांग बच्चों के बारे में बता खूब चंदा बटोरता था।एक बात हर जगह दोहराता था कि आप द्वारा दिया गया एक एक पैसा गूंगे बहरे विकलांग बच्चों की पढ़ाई व उनके मुंह मे अन्न का दाना बन कर जाएगा।गंगा नगर का मन्दः बुद्धि से मन्दः बुद्धि व्यक्ति भी जानता है कि मृत्युभोज से लेकर हर धार्मिक समाजिक स्टेजों पर ब्रह्मदेव यही भूतों की कहानी सुनाता रहा है कि अंध विद्यालय में बच्चों की निशुल्क पढ़ाई कराई जाती है। गांवों से गेहूं,मृत्युभोज से चंदा, शहर से चंदा लेने के बावजूद यहां तक कि इन विकलांग बच्चों के गरीब मां बाप को भी प्रताड़ित कर जबरन फीस लेता था और रसीद चंदे की दी जाती है। क्या कोई स्वामी वाला प्रबुद्ध नागरिक बताएगा कि मजदूरी करने वाला गरीब आदमी जिसके पास पूरी दो बीघा जमीन भी नही है वो पचास हज़ार के करीब चंदा दे सकता है मेहनत करके जिसके हाथों में छाले पड़े हुए है घर खाने को रोटी नही जो मंदहाली के दौर से गुजर रहा है वो हज़ारों रुपये चंदा देगा ? विकलांग बच्चों की इसी अवैध वसूली के खिलाफ सबूतों के साथ वीडियो सी डी, चंदे की रसीदें, एफिडेट एंव सरकारी योजनाओं वाले डॉक्युमेंट्स जिसमें फ्री शिक्षा के नाम पर सरकारी गबन किया तमाम सबूत जिला कलेक्टर को दिए गए। जिसकी एक एक प्रतिलिपि मुख्यमंत्री, ग्रह मंत्री, प्रधान मंत्री, मुख्य न्यायधीश जोधपुर हाई कोर्ट, गवर्नर, शिक्षा मंत्री, समाज कल्याण मंत्री सहित सभी को भेजकर मांग की गई है कि इस सारे आश्रम की सीबीआई जांच करवाई जाये। शिष्टमंडल ने जिला कलेक्टर से आग्रह किया कि स्वामी ब्रह्मदेव एक प्रभावशाली व्यक्ति है उच्च स्तरीय प्रभाव के साथ साथ साम-दाम-दंड भेद भी खूब अपनाता है! इसी लिये हमने पहली किस्त में कम सबूत दिये है आप जांच शुरू करवाइये अभी स्वामी ब्रह्मदेव के एपिसोड की बहुत किस्तें आएंगी।

रिपोर्ट पोस्ट

इस लेखक के अन्य पोस्ट

ताज़ा लेख